Best -20] मिर्जापुर में घूमने की जगह और सारी नई जानकारी

हेलो दोस्तों आज हमलोग मिर्जापुर मे घूमने की जगह (mirzapur me ghumne ki jagah) के बारे में
विस्तार से जानेंगे। अगर आप लोग घूमने फिरने के शौकीन है तो आपको एक बार मिर्जापुर जरूर घूमने आना चाहिए। इस जगह पर आपको घूमने के लिए एक से एक बेहतरीन पर्यटक जगह देखने को मिलेगी। तो आइए मिर्जापुर के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से समझते हैं, की मिर्जापुर में कौन-कौन सी प्रसिद्ध पर्यटक जगह है और यहां पर घूमने कैसे जाएं। 

वाराणसी से लगभग 64 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यह मिर्जापुर शहर उत्तर प्रदेश में पड़ता है। वैसे तो उत्तर प्रदेश में कुल 75 जिले आते हैं। पर उन सभी जिलों में मिर्जापुर खास जिले में आता है। वही मिर्जापुर के पास सबसे बड़ी शहर लखनऊ की दूरी लगभग 287 किलोमीटर है। इस जगह को पूर्व में विद्यांचल के नाम से भी जाना जाता था। मिर्जापुर से सबसे नजदीक और अच्छा शहर वाराणसी को भगवान शिव की नगरी भी कहा जाता है। 


Mirzapur Me Ghumne Ki Jagah



उत्तर प्रदेश में बसा यह शानदार मिर्जापुर शहर पर्यटक लोगों के लिए बहुत ही अच्छी आकर्षण का केंद्र है इस जगह पर लोग हर साल छुट्टियां मनाने के लिए आते हैं। इस जगह पर हनीमून मनाने के लिए भी बहुत लोग आते हैं। वही इस मिर्जापुर जगह को ऐतिहासिक जिला भी समझा जाता है। इस जगह पर बहुत सारे धार्मिक स्थान भी हैं जिनमें हिंदू धर्म के देवी देवताओं के मूर्ति और विशाल मंदिर बनी हुई है जहां पर सैकड़ों लोग दर्शन के लिए आते रहते हैं। 


दोस्तों मिर्जापुर में पर्यटक केंद्र बहुत ही शानदार तरीके से बनी और सजाई हुई है इस जगह पर आपको मौसम बेहद सुहावना मिलेगा यहां पर जलप्रपात और सुंदर सुंदर बहती नदियां देखने को मिलेंगे। दोस्तों यहां पर आपको एक बार आने के बाद यहां का मौसम बहुत ही सुहावना और आपके लगाओ में शामिल हो जाएगा और आपको इस जगह पर बार-बार आने का मन करेगा। 


Best मिर्जापुर के बारे मे रोचक तथ्य

  • विंध्याचल पहाड़ी जो कि मिर्जापुर में स्थित है। इस जगह से बड़ी मात्रा में पत्थर निकाले जाते हैं और पहाड़ी से पत्थर निकालने के लिए विस्फोटक और बारूद का इस्तेमाल किया जाता है। 
  • यहां पर घूमने के लिए बहुत सुंदर सुंदर जलप्रपात बने हुए जो कि बहुत ही आकर्षक लगते हैं। 
  • मिर्जापुर में बहुत सारे प्राचीन और बड़े हिंदू धर्म के मंदिर हैं यहां पर सैकड़ों श्रद्धालु लोग पूजा अर्चना करने आते हैं। 
  • पुराने समय के मान्यता के अनुसार मिर्जापुर में सीता कुंड बना हुआ है ग्रंथों में कहा गया है कि इस जगह पर राम जी और सीता जी ने निवास किया था। 
  • मिर्जापुर में कुछ चीजें बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध है जिनमें कालीन, मिट्टी के बर्तन, खिलौने और पीतल के बर्तन बनाने और निर्यात करने के लिए जाना जाता है। 
  • इस जगह पर ब्रिटिश राज्य के समय बनाई गई कई प्राचीन इमारतें और किले पर्यटकों के देखने के लिए प्रचलित है। 
  • मिर्जापुर में घूमने आने वाले श्रद्धालुओं के लिए माता सती का मंदिर घूमना बेहद लोकप्रिय हैं। इस मंदिर को विंध्यवासिनी मंदिर कहा जाता है और इसे विंध्याचल पर्वत पर स्थापित किया गया है। 
  • मिर्जापुर के सबसे खास बात यह है कि इस जगह पर बरसात के मौसम में मौसम बेहद ही सुहावना और हरियाली भरा होता है। 
  • इस जगह का प्राचीन समय में कुछ अलग नाम था जिसका नाम ब्रिटिश कंपनी ने मिर्जापुर रख दिया था। वही मिर्जापुर के नाम के अर्थ का बात करे तो इसका मतलब आमिर का बच्चा होता है। 

मिर्जापुर में घूमने की जगह ( Mirzapur Me Ghumne Ki Jagah) 


मिर्जापुर में घूमने के लिए पर्यटक लोगों को कभी भी निराश होकर अपने जगह पर लौटना नहीं पड़ेगा क्योंकि इस जगह पर घूमने के लिए बहुत अच्छी-अच्छी जगह मौजूद है। यहां पर आने के लिए आप कई प्रकार के वाहन का इस्तेमाल कर पाएंगे जिनमें बाइक ट्रेन फोर व्हीलर बस सेवा इत्यादि शामिल है तो आइए मिर्जापुर पर्यटन स्थल ( Mirzapur Tourist Place in Hindi)  के बारे में जानते हैं। 

पक्का घाट मिर्जापुर

कई प्राचीन मंदिरों से घिरा यहां घाट मिर्जापुर के प्रसिद्ध दार्शनिक स्थलों में से एक माना जाता है। इस जगह पर बलुआ पत्थर द्वारा एक शानदार इमारत बनी हुई है इसे देखने के लिए बहुत सारे पर्यटक लोग आते हैं। 


पक्का घाट मिर्जापुर



पक्का घाट के इस जगह पर कई सारे मंदिर बनी हुई है। इस घाट के किनारे पर भी प्राचीन मंदिर श्रद्धालुओं के पूजा अर्चना के लिए खुलती है। इन मंदिरों को बेहद ही शानदार कला का प्रदर्शन करते हुए बनाया गया है जो देखने में यह भी रोमांचित लगता है। अगर आप इस मंदिर में पूजा अर्चना कर जाते हैं सुबह आपको यहां पर बहुत सारे लोग फोटो शूट करते हुए भी दिखाई पड़ेंगे। 



सिरसी बांध मिर्जापुर

अंबेडकर पार्क मिर्जापुर

विंधम फॉल्स मिर्जापुर

मिर्जापुर का लाल भैरव मंदिर

आलोपी दरी मिर्जापुर


कोटर नाथ शिव मंदिर मिर्जापुर


लखनिया दरी मिर्जापुर

पिपरी बांध मिर्जापुर


मिर्जापुर का मां भंडारी देवी मंदिर


मिर्जापुर का इफ्तेखार का मकबरा


सीता कुंड मिर्जापुर


राम गया घाट मिर्जापुर


टांडा जलप्रपात मिर्जापुर


चुनार अड़गड़ानंद परमहंस आश्रम


बाबा सिद्धनाथ दरी मिर्जापुर


काली खोह मंदिर मिर्जापुर


अष्टभुजी देवी मंदिर मिर्जापुर


विंध्यवासिनी मंदिर मिर्जापुर


चुनार का किला मिर्जापुर


FAQ


मिर्जापुर के पास कौन सी नदी है?

मिर्जापुर के निकट मे पुंयजल नदी है। वही इसे ओझल नदी के नाम से भी जाना जाता है। इस नदी का पानी गंगा के पानी जैसा ही पवित्र माना जाता है। यह नदी विंध्याचल के मध्य होकर भी गुजरती है। 


मिर्जापुर में गंगा कितनी बड़ी है?

गंगा नदी मिर्जापुर मे बहुत ही बड़ी है। इसके विशालता का अंदाज़ इस बात से लगाया जा सकता है की जब अगस्त 2022 मे बाढ़ आई थी तो गंगा नदी का जलस्तर सुबह मे 77.72 मीटर था। वही अगले दिन 77.98 मीटर बाढ़ के कारण नदी का पानी बढ़ गया था। 


मिर्जापुर में कितनी गुफाएं हैं?

मिर्जापुर उत्तर प्रदेश मे स्थित है यह जगह पर प्राचीन समय के लगभग 600 से ज्यादा गुफाएं मौजूद है जिनमें प्राचीन समय के बहुत सारी कलाकृतियां चित्रण की गई है। ईस जगह पर लगभग 275 तरह के चित्रों के अवशेष दिखाई पड़े हैं जिनमें अलग-अलग तरह के कृषक, बारहसिंघा, गाय, भैंस और रीछ जैसे अनेको जानवरों के चित्र अंकित है। 


मिर्जापुर जिले में कौन सा बांध है?

उत्तर प्रदेश में बसे मिर्जापुर जिले मे 2 बांध है। जिनमें दोनों के नाम इस तरह है खजूरी बांध और सिरसी बांध। इसके अलावा मिर्जापुर में एक नदी बहती है। जिसका नाम पुण्य जल नदी है,  और इसका दूसरा नाम ओझल नदी भी दिया गया है


मिर्जापुर में सबसे फेमस क्या है?

वैसे तो मिर्जापुर मे बहुत सारी घूमने की जगह माज़ुद् है। पर वहा पर कुछ मुख्य चीज़े फेमस है। जिनमे, चिनार का किला, सिरसी बांध, पिपरी बांध और मिर्जापुर की आलोपि दरी सबसे अच्छी जगहो मे से एक है। 


मिर्जापुर में कौन कौन सा मंदिर है?

मिर्जापुर मे कई सारी मंदिर है। जिनमे कुछ प्रमुख मंदिर भी है जैसे, महासरस्वती मंदिर, काली का मंदिर, महादेव, ताराकेश्वर और महालक्ष्मी जैसे मंदिरे है उनके बीच में एक नदी बहती है जिसे पुन्यजल नदी के नाम से जाना जाता है। 


क्या मिर्जापुर की यात्रा करना सुरक्षित है?

मिर्जापुर में घूमने के लिए बहुत सारी अच्छी-अच्छी जगह मौजूद है। इस जगह पर क्राइम साल 2021 में 72.21 अनुमानित थी। मिर्जापुर मे फसल क्षेत्र 13,32,488 हेक्टेयर है। वही वन छेत्र 746.11 वर्ग किलोमीटर है। 


मिर्जापुर का पुराना नाम क्या है?

मिर्जापुर का नामकरण ब्रिटिश के समय कर दिया गया था प्राचीन समय में इसका नाम मिर्जापोर था। यह नाम अमिरजादे से ली गयी थी। इसका अर्थ शासक की संतान होता है। 



मिर्जापुर में कौन सी भाषा बोली जाती है?

इस जगह पर बहुत ही मधुर भाषाओं का इस्तेमाल किया जाता है। जीसमे मिर्जापुरी, हिंदी और भोजपुरी भाषा शामिल है। 


मिर्जापुर में कौन सा खनिज पाया जाता है?

मिर्जापुर घूमने के साथ-साथ खनिज तत्वों के लिए भी मशहूर है इस जगह पर संगमरमर, चूना पत्थर और डोलोमाइट जैसे कुछ खनिज ज्यादा मात्रा मे पाए जाते है। 

आगरा से मिर्जापुर कितना दूर है?

मिर्जापुर जाने के लिए आगरा से आपको कई तरह की ट्रेनें मिल जाएंगे। जिनमे दिल्ली से मुंबई तक की लगभग 7 ट्रेनें मौजूद है। जो 514 किलोमीटर लगभग तय करती है। 


मिर्जापुर में कितने गांव हैं?

एक आंकड़े के अनुसार मिर्जापुर में लगभग 1950 से ज्यादा गांव शामिल है। और इन जगहों पर घूमने के लिए भी बहुत अच्छी पर्यटक जगह है। 


मिर्जापुर का जन्म कब हुआ?

आपको जानकर हैरानी होगी कि मिर्जापुर का नाम ब्रिटिश शासन के समय साल 1735 ईस्वी में लॉर्ड मरक्यूरियस नाम क्या है एक ब्रिटिश अफसर ने क्षेत्र में मिर्जापुर नाम देकर स्थापित किया। प्राचीन शब्दकोश में मिर्जापुर का अर्थ राजाओं का क्षेत्र कहा जाता है। 



मिर्जापुर समुद्र तल से कितने किलोमीटर ऊपर है?

पवित्र माने जाने वाले गंगा नदी के तट पर स्थित यह जगह समुद्र तल से मिर्जापुर लगभग 80 मीटर की ऊंचाई पर अनुमानित की गई है। वही इसका भौगोलिक क्षेत्रफल 4405 आँका गया है। 



बनारस से मिर्जापुर कितने घंटे का रास्ता है?

अगर आप बनारस से मिर्जापुर जाने के लिए ट्रेन का उपयोग करते है तो आपको लगभग 1घंटे से 1घंटे 20 मिनट का समय लगेगा। 

 

निष्कर्ष

मेरे दोस्तों इस आर्टिकल के जरिये हमने आपको मिर्जापुर मे घूमने की जगह (mirzapur me ghumne ki jagah) के बारे में बहुत ही अच्छी तरीके से बताने का प्रयास किया है और इस जगह पर घूमने के लिए लगभग सभी चीजों के बारे में डिटेल्स देने की हमने कोशिश की है मैं ऐसा करता हूं हमारे आर्टिकल आपको अच्छा लगेगा इसे आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ जरूर शेयर करें और अपने यात्रा को आसान बनाएं। 



यह भी पढ़ें👇👇👇

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.